jainpatrasampadaksangh
jainpatrasampadaksangh_logo

अखिल भारतीय जैन पत्र संपादक संघ

जैन समाज देश की समृद्धशाली व शिक्षित समाज है जिसके अनेक संगठन विविध क्षेत्रों में कार्यरत हैं,परन्तु जैन मीडिया की ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया। जैन पत्रकारिता जगत में रचनात्मक संगठन का अभाव मुझे शूल की तरह चुभ रहा था।इस दिशा में मैने अपनी सोच विकसित की और राजस्थान के वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलापचंद जी डण्डिया से अपने मन की बात की।उन्होंने मेरा उत्साह वर्धन करते हुए ऐसे संगठन को पूर्ण सहयोग देने का वचन दिया।वैसे तो एक और एक दो होते हैं परन्तु यहां हम दोनों मिले और ग्यारह की शक्ति से संगठन हेतु प्राणपण से जुट गये।

सिद्धांत चक्रवर्ती पूज्य आचार्य श्री विद्यानंद जी की विशेष कृपा हम पर सदा रही।समन्वय का अद्भुत सूत्र उन्होंने ही हमें दिया।वह सूत्र था-मत ठुकराओ, गले लगाओ,धर्म सिखाओ।इस सूत्र वाक्य ने हमेशा पथ प्रदर्शन किया यही कारण था कि इस संगठन में बिना किसी भेद भाव के हमें सबका साथ मिला –

मैं अकेला ही चला था जानिवे मंजिल मगर।
लोग आते गये और कारवां बनता गया।।

हमारे आव्हान पर जैन समाज के कलमकारों ने संगठन की शक्ति को पहचाना परिणामतः 2 अक्टूबर 2006 को विजयादशमी के पावन पर्व पर मानवीय मूल्यों की स्थापना का विश्वास व जैनत्व के संस्कारों का कीर्ति ध्वज फहराने की लालसा को लेकर मीडिया के प्रभावी युग में जैन पत्रकारिता को नयी दिशा प्रदान करने के उद्देश्य से इस अखिल भारतीय जैन पत्र संपादक संघ का गठन किया गया।

इतिहास

1 मार्च 2007 को श्री महावीर जी की पावन पवित्र भूमि पर आ.श्री चैत्यसागर जी के मंगल आशीर्वाद व मुनि श्री उर्जयन्त सागर जी के पावन सान्निध्य में जैन पत्रकारों का प्रथम राष्ट्रीय सम्मेलन  समन्वय वाणी जिनागम शोध संस्थान के आमंत्रण पर सम्पन्न हुआ।

इस सम्मेलन में देशभर से 31  जैन मीडिया कर्मी सम्मिलित हुए।जिनमें प्रमुख थे-सर्व श्री मिलापचंद जी डण्डिया-जयपुर, डा.चीरंजीलाल बगडा-कोलकाता, डा.संजीव भानावत-जयपुर, डा.भागचंद “भागेन्दु”-दमोह,अनूपचंद एडवोकेट-फिरोजाबाद, पं.रतनचंद भारिल्ल-जयपुर, प्रवीणचंद छावडा-जयपुर, डा.रमेशचंद जैन-निवाई,रमेश कासलीवाल-इन्दौर तथा अखिल बंसल-जयपुर आदि। सम्मेलन में लिए गये निर्णयानुसार 10 अप्रैल 2007 को इसे न्यास रूप में रजिस्टर्ड करने की कार्यवाही की गयी। न्यास में अखिल बंसल -संस्थापक (महामंत्री),श्री मिलापचंद डण्डिया(अध्यक्ष), महेन्द्र कुमार पाटनी (कोषाध्यक्ष),डा.रमेशचंद जैन तथा डा.राजेन्द्र बंसल  इस प्रकार 5 न्यासी रखे गये।

02-jss

Team

Patrika

Gallery